Encryption In hindi | एन्क्रिप्शन से आपने डाटा को सिक्योर कैसे करे ?

नमस्ते दोस्तों आज हम आपको बताने वाले हैं की एन्क्रिप्शन क्या होता है? ,Encryption In hindi ,

 Encryption Meaning in hindi , डिक्रिप्शन क्या होता है? ,एन्क्रिप्शन और डिक्रिप्शन क्यों किया जाता 

है ?और भी बहुत कुछ तो आज इस टॉपिक के आपके सरे डाउट क्लियर होने वाले है तो अगर आपको भी इसके बारे में जानना है तो बने रहिये मेरे साथ तो चलिए शुरू करते है। 

Encryption In hindi 

Encryption In hindi




Encryption Meaning in hindi 

दोस्तों इन का हिंदी में मतलब होता है  कूटलेखन  या गूढ़लेखन इसका अर्थ है कंप्यूटर की भाषा में लिखा हुआ  यानि की कोड में लिखा हुआ। 


एन्क्रिप्शन क्या होता है?

एन्क्रिप्शन एक प्रोसेस होता है जिसमे की डाटा को मशीन लैंग्वेज या असेंबली लैंग्वेज के कोड में कन्वर्ट किया  जाता है जिससे की वो डाटा सेफ रहे और कोई भी उस डाटा को चुरा न पाए इस डाटा को जब एन्क्रिप्ट किया जाता है तब इसके साथ ही इसकी एक key भी बना दी जाती है और जो डाटा कोड में कन्वर्ट किया जाता है वो इस key की मदद से ही पढ़ा जा सकता है। 

 जिसके पास ये key है केवल वो ही इस डाटा को एक्सेस कर सकता है इसको में आपको एक उदाहरण देकर समझाता हूं देखिए मान लीजिए कि आपने एक सेंटेंस लिखा है और आप इसे एन्क्रिप्ट कर देते हैं तो आपका यह सेंटेंस कोड या मशीन लैंग्वेज की भाषा में कन्वर्ट हो जाएगा और  आपके पास इस डाटा को एक्सेप्ट करने के लिए 1 key  होगी। 

 जिससे आप इसको एक्सेस कर सकते हैं और क्योंकि यह डाटा मशीन  लैंग्वेज में है तो कोई भी इसको पढ़ नहीं पाएगा और इससे आपका डाटा सेफ  रहेगा। दोस्तों इंक्रिप्शन  केवल डाटा को ही नहीं बल्कि वेबपेज ,एप्लीकेशन या यूआरएल को भी सेव रख सकती  हैं। 

आपने किसी बड़ी  पेमेंट वेबसाइट को अगर ध्यान से देखा हो तो आप जब उस वेबसाइट से  पेमेंट करते हैं तो ऊपर यूआरएल बहुत बड़ा होता है और आमतौर पर   हम किसी वेबसाइट के यूआरएल  को देखते हैं तो वह छोटा रहता है वो इसलिए होता है क्योंकि आप लोग जब उस वेबसाइट से पेमेंट करे तो आपकी आइडेंटिटी बिलकुल अलग हो इसलिए यूआरएल बड़ा होता है और वह इंक्रिप्ट होता है इसलिए सेफ रहता  है। 


 Key  क्या होती  है?

दोस्तों जिस key से एन्क्रिप्टेड  डाटा को डिक्रिप्ट  किया जाता है उसे Key  कहा जाता है। चलिए  जानते हैं डिक्रिप्शन के बारे में। 

डिक्रिप्शन क्या होता है?

यह भी एक प्रकार का प्रोसेस होता है जिसमें की मशीन लैंग्वेज केकोड  को डाटा  में कन्वर्ट किया जाता है जिससे कि लोग उसे  एक्सेस कर पाए और पढ़ पाए तो उम्मीद है आपको डिक्रिप्शन के बारे में पता चल गया होगा। 


क्रिप्टोग्राफ़ी क्या है ?

Encryption In hindi


दोस्तों अगर आपको किसी मैसेज को प्राइवेटली किसी को पहुंचाना है और जिससे कि वह मैसेज किसी और तक ना पहुंचे तो उसे क्रिप्टोग्राफी कहां जाता है जैसे कि अगर मान लीजिए कि A  पर्सन को B person  तक कोई डाटा  पहुंचाना है और वह यह चाहता है

कि data को बीच में कोई ना पड़े तो उसे  क्रिप्टोग्राफी  कहां जाएगा और यह एन्क्रिप्शन के  द्वारा किया जाता है।  इसको में आपको एक चार्ट के द्वारा समझाता हु। तो देखिये दोस्तों जैसा की आपको इस चार्ट में दिख रहा है पहले कोई डाटा था उसे एन्क्रिप्ट किया गया और उस डाटा को safely किसी इंसान तक पंहुचा दिया गया और उसने उस डाटा को डिक्रिप्ट करके एक्सेस कर लिया। 

दोस्तों जब इंक्रिप्शन और डिक्रिप्शन key  सेम होती है तो  उसे सीमेट्रिकल  क्रिप्टोग्राफी कहा जाता है और जब यह दोनों key  अलग-अलग होती है तो उसे असीमेट्रिकल क्रिप्टोग्राफी कहां जाता है। 

Data encryption meaning in hindi

दोस्तों डाटा इंक्रिप्शन एक प्रोसेस है जिसमें डाटा को मशीन कोड यह मशीन लैंग्वेज में कन्वर्ट किया जाता है जिससे कि वह डाटा जो की काम का  होता है  और कंप्यूटर में जो डाटा  है उन्हें सुरक्षित रखा जा सके ताकि कोई भी उसका  गलत कामों के लिए इस्तेमाल ना कर पाए। 

 दोस्तों जो डाटा इंक्रिप्टेड होता है उसे ciphertext कहते हैं और जो डाटा इंक्रिप्टेड नहीं होता उसे plaintext  कहा जाता है और यही plaintext आप पढ़ पाते हैं दोस्तों पहले जो  डाटा इंक्रिप्शन होता था उसमें सुधार कर कर उसे मॉडर्न  एन्क्रिप्शन  से बदल दिया गया है। 

जिसमें कि इंक्रिप्ट करने के बहुत अच्छे ऑप्शन होते हैं और इससे कंप्यूटर का डाटा कोई नहीं चुरा पाएगा आजकल कंप्यूटर के डाटा को बहुत जल्दी चुरा लिया जाता है और उसे बेच दिया जाता है जिससे कि लोगों को नुकसान झेलना पड़ता है। 

Data एन्क्रिप्शन  के मुख्यतः दो प्रकार होते हैं:-

१. सीमेट्रिकल या पब्लिक key encryption  . 

२. असीमेट्रिकल एन्क्रिप्शन। 

इन दोनों के बारे में हम पहले ही बात कर चुके है। 


End to End Encryption.


दोस्तों end to end encryption एक प्रकार का इंक्रिप्शन है जिसमें कि आप ऑनलाइन data को एंक्रिप्ट कर सकते हैं यानी कि मान लीजिए कि आपने किसी डाटा को अपने दोस्त को भेजा और आप यह चाहते हैं कि बीच में कोई भी को डांटा ना pade  केवल आपके दोस्त hi  वह पढ़ पाए तो यह end to end encryption है is data  को ना ही कोई हैकर ना ही कंपनी और ना ही कोई भी मान लीजिए नहीं पढ़ सकता बहुत ही अच्छी चीज है प्राइवेसी के लिए .


what is whatsapp encryption in hindi?


दोस्तों व्हाट्सएप एन्क्रिप्शन  भी एक प्रकार का end to end encryption है जिसमें कि आपके किसी भी मैसेज को बीच में कोई नहीं पढ़ पाएगा वह मैसेज कोड के रूप में बदल जाएगा जिससे कि कोई भी टेलीकॉम कंपनी या फिर कोई गवर्नमेंट कोई भी उस डाटा  को नहीं पढ़ पाएगा। 

 जैसे कि मान लीजिए आपने अपने दोस्त को एक मैसेज भेजो और वह आपके दोस्त के पास पहुंच गया अब तो यही कहेंगे यह मैसेज तो मेरे दोस्त और मेने ही पढ़ा और किसी ने भी नहीं। 

लेकिन दोस्तों ऐसा नहीं है आपके इस मैसेज को टेलीकॉम कंपनी जिसका आप सिम इस्तेमाल करते हैं वह आसानी से पढ़ सकती है और आपका जो ये  डाटा  है वो डाटा पैक के रूप  में दूसरे तक जाता है और यदि यह डाटा पैक किसी और के पास पहुंच गया। 

 तो वह भी पढ़  सकता है तो ऐसे में आपके मैसेज को कोई भी पड़ सकता है जिसके  पास वो डाटा पैक है इसलिए आप इस वहम में मत रहिये कि आपका मैसेज कोई नहीं पढ़ पाएगा। 

तो ऐसे में व्हाट्सएप ने पहले एक इंक्रिप्शन मोड निकाला था जिसमें कि आप अपने मैसेज को इंक्रिप्ट कर सकते थे तो ऐसे में आपका यह डाटा  बीच में कोई भी टेलीकॉम कंपनी का कोई भी नहीं पढ़ पाएगा इसलिए इसमें एक सेफ और प्राइवेट मैसेजिंग हो पाएगी। 

लेकिन इसके आने से पहले भारत में बहुत विवाद चला क्योंकि अगर बीच के मैसेज कोई नहीं पढ़ पाएगा तो ऐसे में कुछ लोग बुरे काम भी कर सकेंगे और उन पर पुलिस की नजर भी नहींरहेगी इसलिए इस पर बहुत विवाद  चला। 


एन्क्रिप्शन के फायदे।


दोस्तों आज हमने एन्क्रिप्शन के बारे में इतनी साडी बातें करि है अब चलिए ये जान लेते है की एन्क्रिप्शन के फायदे। 

डाटा सेक्युरेली भेजना। 


दोस्तों एन्क्रिप्शन की सबसे अच्छी बात ये है की आप इससे किसी भी डाटा को सेक्युरली भेज सकते हो आपको डाटा चोरी क्या किसी के पड़ने की समस्या नहीं आती है। 

अगर आप बिना इंक्रिप्टेड डाटा को भेजते हैं तो बीच में उसे कोई भी हैकर या कोई भी एक टेलीकॉम कंपनी चुरा कती है और उस डाटा का गलत इस्तेमाल करके आपको  लूटा भी जा सकता है इसलिए एन्क्रिप्शन  का सबसे बड़ा फायदा तो यही है कि आप इसे आसानी से साफल्य  और प्राइवेटलि सेंड कर सकते हैं। 


सिक्योर आल डाटा। 


दोस्तों इससे आप किसी भी वेब  पेज, एप्लीकेशन डाटा, फाइल्स, डॉक्यूमेंट सब को एन्क्रिप्ट  कर सकते  है और हैकर्स से बचा सकते हैं और आसानी से उसे कहीं भी रख सकते हैं इसमें आपका प्राइवेट डाटा कहीं नहीं जाएगा क्योकि उसकी  कीय किसी को पता ही नहीं होगी। 

 तो कोई इस्तेमाल कैसे कर पाएगा इसलिए अगर आपको कहीं भी पेमेंट करना हो तो पहले आप उस वेब पेज को  देख ले कि वह https  से सिक्योर  है कि नहीं है ताकि आप safely   से अपना पेमेंट कर सकें। 


Secure devices.


अब मोबाइल फ़ोन  और डिजिटल डिवाइज  के इस्तेमाल को देखते हुए उनकी कंपनियों ने उनके एन्क्रिप्शन  पर बहुत ध्यान दिया ताकि आप आसानी से अपने डिवाइस को एन्क्रिप्ट कर क दूसरों से बचा सकें और अपने डेटा को उनमें safely  रख सके और ये भी इसका एक  एडवांटेज है। 

निष्कर्ष - दोस्तों आज हमने एन्क्रिप्शन के बारे में पूरी चर्च की encryption in hindi , encryption meaning in hindi तो उम्मीद है आपको इसके बारे में सम्पूर्ण ज्ञान मिल गया होगा अगर आपको हमारे ये आर्टिकल पसंद आया तो अपनी राय कमेंट में देना न भूले आपका बहुत बहुत धन्यवाद। 










Post a Comment

नया पेज पुराने